पेड़ों की सूखी पत्तियों से शुद्ध होगा दूषित भूजल Dry Leaves To Purify Water

Bharat Mahan

भूजल को शुद्ध करने के लिए भविष्य में बड़े-बड़े फिल्टर लगाने की जरूरत नहीं होगी। पानी से फ्लोराइड व अन्य दूसरे हानिकारक तत्व छानकर दूर करने के लिए सूखी पत्तियों का फिल्टर (एक्टिवेटेड कार्बन) बड़ा काम आएगा। हरकोर्ट बटलर प्राविधिक विश्वविद्यालय (एचबीटीयू) के केमिकल इंजीनियरिंग के विभागाध्यक्ष प्रो. एसके गुप्ता ने इसे ईजाद किया है। सूखकर गिर जाने वाली पत्तियों से बनाए गए इस फिल्टर में बेल, पीपल और आम की पत्तियों के अलावा संतरे के छिलकों का भी इस्तेमाल किया गया है।

एचबीटीयू की प्रयोगशाला में फिल्टर के टुकड़ों का प्रयोग सफल होने के बाद इसे कमर्शियल रूप से प्रयोग के लिए तैयार किया जा रहा है।

यह पानी से फ्लोराइड व अन्य हानिकारक तत्वों को सेाखकर पीने योग्य बनाता है। इसकी विशेषता यह है कि केमिकल से बनने वाले एक्टिवेटेड कार्बन की तुलना में यह अधिक क्षमतावान है। ऑर्गेनिक वेस्ट मैटीरियल से बना होने के कारण यह अन्य फिल्टर के मुकाबले काफी सस्ता मिलेगा।

To help remove fluoride and other impurities from ground water, leaves of trees can come to great use. Prof S K Gupta, Head of Department of Chemical Engineering at the Harcourt Butler Technical University, Kanpur has devised a process using leaves from mango, peepal and some other trees. The experiments of Prof Gupta has been successful and soon this will be available for commercial use too.

Read more of this in a report published in Jagran...

News Source
Jagran

What do you think?

More from Bharat Mahan