ONGC Organizes Study Trips For Students To Oil Installations

Study visit of students to Tripura Asset’s oil Installation

इस समाचार को हिन्दी में पढ़े आगे...

In continuance with the observance of Azadi Ka Amrit Mahotsav – celebrating 75 years of India’s independence – Oil and Natural Gas Corporation Limited (ONGC) organized field visits for students at four of its work locations. Ankleshwar Asset of Gujarat conducted the study visits to installations and rig for students from Kendriya Vidyalaya during 5-6 October. Students were divided into four batches, two batches visiting Ankleshwar’s Central Tank Farm and wok-over rig, each day. Students were briefed about the technicalities of oil production from fields.

Around 60 students of Kendriya Vidyalaya in ONGC Colony at Agartala visited the oil Installation there on 7 October. At the installation site, the students were given a brief overview of ONGC and its energy business. Later on, the students were given a walk-through of the Installation and its key points like Christmas Tree, Process Area and Dehydration Unit and Manifold Area.

The ONGC work locations in Upper Assam organized one-day study visit to Oil Installations in Borholla for the college students.  Arrangements were made for visiting oil installations at Borholla in a group of 20 students every day during 4-8 October 2021. Sixty students from Jorhat Engineering College, 20 Students from HRH Prince of Wales Institute of Engineering & Technology and 20 students from JB College were covered.

Assam Asset arranged study visit of 100 students of Kendriya Vidyalaya, Sivasagar (Class-XI and XII) in four groups of 25 each to ONGC production installations and drilling Rig in Geleky Field on 8 October 2021 following the safety norms. Mentors were nominated from each Drill Sites and GGSs to deliver basic acquaintance of the activities with the equipment.

Earlier, on 9 October 2021, ONGC organized trips for five groups of around 25 students each from Godavari Institute of Engineering & Technology (GIET) of Rajahmundry to its Mini Refinery at Tatipaka and Gas Collecting Station at Kesanapalli. In September, ONGC had organized field visits for five student groups from Kendriya Vidyalaya and engineering colleges. The study visits during 1 to 15 September were organized at five oil-field locations of the Maharatna – Ahmedabad, Mehsana, Ankleshwar, Cambay and Cauvery.

The trips are aimed at providing the students with an insight of various oil-field operations of ONGC, to inculcate a passion among the budding engineers for nation building efforts. All study tips are organized following all SOPs and protocols to contain the spread of COVID-19.

Under the aegis of the Ministry of Petroleum and Natural Gas (MoPNG), ONGC is organizing study visits of 25 groups, comprising of around 100 students in each group, during September 2021 to January 2022, under ‘Azadi Ka Amrit Mahotsav’ (AKAM). Under this AKAM, ONGC is also collaborating with other oil PSUs, to launch various projects to boost the country’s indigenous handicraft sector. Center public enterprises under the Ministry of Petroleum & Natural Gas will be launching 75 different handicraft projects across the country till 15 August 2022. Among which, ONGC has taken the lead and is supporting 15 projects.

आजादी का अमृत महोत्‍सव : ओएनजीसी ने तेल निकालने की जगहों पर छात्रों के लिए अध्‍ययन भ्रमण

आजादी का अमृत महोत्सव - भारत की आजादी के 75 साल का जश्न मनाने के क्रम में – तेल और प्राकृतिक गैस निगम लिमिटेड (ओएनजीसी) ने अपने चार कार्यस्थलों पर छात्रों के लिए क्षेत्र के दौरों का आयोजन किया। गुजरात के अंकलेश्वर एसेट ने 5-6 अक्टूबर के दौरान केन्द्रीय विद्यालय के छात्रों के लिए तेल प्रतिष्ठानों और रिग का अध्ययन दौरा कराया। छात्रों को चार बैचों में विभाजित किया गया था, प्रत्येक दिन दो बैचों ने अंकलेश्वर के सेंट्रल टैंक फार्म और वोक-ओवर रिग का दौरा किया। छात्रों को इन क्षेत्रों से तेल उत्पादन की तकनीकी के बारे में जानकारी दी गई।

अगरतला में ओएनजीसी कॉलोनी में केन्‍द्रीय विद्यालय के लगभग 60 छात्रों ने 7 अक्टूबर को वहां तेल निकालने की जगहों का दौरा किया। तेल निकालने के स्थल पर, छात्रों को ओएनजीसी और उसके ऊर्जा व्यवसाय के बारे में संक्षिप्त जानकारी दी गई। बाद में, छात्रों को तेल निकालने के स्‍थानों और इसके प्रमुख बिंदुओं जैसे क्रिसमस ट्री, प्रोसेस एरिया और डिहाइड्रेशन यूनिट और मैनिफोल्ड एरिया का विस्‍तृत वर्णन दिया गया।

ऊपरी असम में ओएनजीसी के कार्यस्थलों ने कॉलेज के छात्रों के लिए बोरहोला में तेल प्रतिष्ठानों की एक दिवसीय अध्ययन यात्रा का आयोजन किया। 4-8 अक्टूबर 2021 के दौरान प्रतिदिन 20 छात्रों के समूह में बोरहोला में तेल प्रतिष्ठानों का दौरा करने की व्यवस्था की गई थी। जोरहाट इंजीनियरिंग कॉलेज के साठ छात्र, वेल्स इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के एचआरएच प्रिंस के 20 छात्रों और जेबी कॉलेज के 20 छात्रों को शामिल किया गया था।

असम एसेट ने सुरक्षा मानदंडों का पालन करते हुए 8 अक्टूबर 2021 को केन्‍द्रीय विद्यालय, शिवसागर (कक्षा-XI और XII) के 100 छात्रों के 25-25 के चार समूहों में ओएनजीसी उत्पादन प्रतिष्ठानों और गेलेकी फील्ड में ड्रिलिंग रिग की अध्ययन यात्रा की व्यवस्था की। उपकरण के साथ कार्यों की बुनियादी जानकारी देने के लिए प्रत्येक ड्रिल साइट और जीजीएस से मेंटर्स को नामित किया गया था।

इससे पहले, 9 अक्टूबर 2021 को, ओएनजीसी ने राजमुंदरी के गोदावरी इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (जीआईईटी) से लगभग 25 छात्रों के पांच समूहों के लिए टाटीपाका में अपनी मिनी रिफाइनरी और केसनपल्ली में गैस कलेक्टिंग स्टेशन के लिए दौरे आयोजित किए। सितम्‍बर में, ओएनजीसी ने केन्‍द्रीय विद्यालय और इंजीनियरिंग कॉलेजों के पांच छात्र समूहों के लिए क्षेत्रीय दौरों का आयोजन किया था। महारत्न के पांच तेल क्षेत्र स्थानों- अहमदाबाद, मेहसाणा, अंकलेश्वर, खंभात और कावेरी में 1 से 15 सितम्‍बर के दौरान अध्ययन दौरों का आयोजन किया गया।

इन यात्राओं का उद्देश्य छात्रों को ओएनजीसी के विभिन्न तेल-क्षेत्र संचालन के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करना है, ताकि उभरते हुए इंजीनियरों के बीच राष्ट्र निर्माण के प्रयासों के लिए एक जुनून पैदा किया जा सके। कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए सभी एसओपीऔर प्रोटोकॉल का पालन करते हुए सभी अध्‍ययन दौरे आयोजित किए जाते हैं।

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय (एमओपीएनजी) के तत्वावधान में, ओएनजीसी सितम्‍बर 2021 से जनवरी 2022 के दौरान 'आज़ादी के अमृत महोत्सव' (एकेएएम) के अंतर्गत 25 समूहों के अध्ययन दौरों का आयोजन कर रहा है, जिसमें प्रत्येक समूह में लगभग 100 छात्र शामिल हैं। इस एकेएएमके अंतर्गत, ओएनजीसीदेश के स्वदेशी हस्तशिल्प क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न परियोजनाओं को शुरू करने के लिए अन्य तेल सार्वजनिक उपक्रमों के साथ भी सहयोग कर रहा है। पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के तहत केन्‍द्र के सार्वजनिक उद्यम 15 अगस्त 2022 तक देशभर में 75 विभिन्न हस्तशिल्प परियोजनाएं शुरू करेंगे। इनमें, ओएनजीसी ने अग्रणी भूमिका निभाई है और 15 परियोजनाओं में सहयोग कर रही है।

News Source
PIB Release

What do you think?

More from Bharat Mahan