Govt Caps Prices Of Hand Sanitizers, Masks

Bharat Mahan

Government has issued orders to cap the retail prices of hand sanitizers at Rs. 100 per bottle of 200 ml. Retail prices of surgical mask (3 ply) shall not be more than Rs. 10 and that of mask (2 ply) shall not be more than Rs. 8 per piece. Melt Blown non-Woven Fabric used in manufacturing face masks (2 ply and 3 ply) have also been capped at the prices prevailing a month ago, as on February 12, 2020. The Secretary, Consumer Affairs, Food & Civil Supplies, Shri Pawan Agarwal told a news conference here today that notification in this regard has been issued yesterday. Both these items have already been included in the Essential Commodities Act, he added.

Shri Agarwal said distilleries have been asked to ramp production of Ethyl Alcohol and provide them to manufacturers of deodorant sprays so that there is no shortage of hand sanitizers.

The Secretary said there is no shortage of Essential Commodities such as foodgrains and appealed the common people not to go for panic buying. He said States/UTs have been advised that transport of essential supplies including food and hygiene products must be maintained. Necessary directions have been issued to ensure that couriers of ecommerce platforms are allowed to supply essential items without hassle. Besides, the States and Consumers can also avail of Consumer Helpline to act swiftly against hoarding, shortages and other malpractices.

सरकार ने हैंड सैनिटाइजर और मास्क की अधिकतम कीमतें तय कीं

सरकार ने हैंड सैनिटाइजर की अधिकतम खुदरा कीमत 100 रुपये प्रति बोतल (200 मिलीलीटर) तय करने के आदेश जारी किए हैं। सर्जिकल मास्क (3 प्लाई) की खुदरा कीमतें 10 रुपये से अधिक नहीं होंगी। इसी तरह मास्क (2 प्लाई) की खुदरा कीमतें 8 रुपए से अधिक नहीं होंगी। फेस मास्क (2 प्लाई और 3 प्लाई) के निर्माण में इस्‍तेमाल होने वाले मेल्‍ट-ब्‍लोन बगैर बुने हुए कपड़े की अधिकतम कीमतों को एक माह पहले 12 फरवरी, 2020 के मूल्‍यों पर ही सीमित कर दिया गया है। उपभोक्ता कार्य, खाद्य और नागरिक आपूर्ति  मंत्रालय में सचिव श्री पवन अग्रवाल ने आज नई दिल्‍ली में एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि इस संबंध में अधिसूचना कल ही जारी कर दी गई है। उन्होंने कहा कि इन दोनों ही वस्तुओं को आवश्यक वस्तु अधिनियम में पहले ही शामिल किया जा चुका है।

श्री अग्रवाल ने कहा कि डिस्टिलरी इकाइयों से इथाइल अल्कोहल का उत्पादन बढ़ाने और इसे डिओडोरेंट स्प्रे के निर्माताओं को उपलब्ध कराने के लिए कहा गया है, ताकि हैंड सैनिटाइजर की कोई किल्‍लत न हो।

सचिव ने कहा कि खाद्यान्नों जैसी आवश्यक वस्तुओं की कोई कमी नहीं है। इसके साथ ही उन्‍होंने आम लोगों से अपील की है कि वे घबराहट में खरीदारी न करें। उन्होंने कहा कि राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को यह सलाह दी गई है कि खाद्य और स्वच्छता उत्पादों की ढुलाई सहित समस्‍त आवश्यक आपूर्ति को निश्चित तौर पर निरंतर बनाए रखा जाना चाहिए। इसके साथ ही यह सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक निर्देश जारी किए गए हैं कि ईकॉमर्स प्लेटफॉर्मों के कोरियर को बगैर किसी परेशानी के आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति करने की अनुमति दी जाए। इसके अलावा, राज्य एवं उपभोक्ता किसी भी आवश्‍यक वस्‍तु की जमाखोरी, किल्‍लत और अन्य तरह के गलत तौर-तरीके अपनाए जाने के खिलाफ तेजी से ठोस कार्रवाई करने के लिए उपभोक्ता हेल्पलाइन का भी उपयोग कर सकते हैं।

News Source
PIB Release

What do you think?

More from Bharat Mahan