Videos

संस्कृति CULTURE

आत्मा संस्कृति है तो, सभ्यता शरीर है। शरीर नश्वर है किंतु आत्मा अमर है। किसी भी देश में भौतिक बदलाव आते हैं, सभ्यता बदलती है, किंतु संस्कृति नहीं।हमारा खान-पान, रहन-सहन और जीवनशैली ये सभी संस्कृति के अंग हैं। भारतीय संस्कृति उत्कृष्ट उदाहरण हैं।उदाहरण स्वरूप हम अभिवादन के लिए हाथ जोड़ते हैं I कितने

Learning Through Comics चित्रकथा के माध्यम से शिक्षा

Usually parents are very concerned that their children are not taking interest in studies. Even the teachers are very worried that inspite of their best efforts in the classrooms, the students do not easily grasp what is being taught. It has been observed that if the lessons are taught through

अनुकरण IMITATION

शिशु जब जन्म लेता तो वह सभी विषयों से अनभिज्ञ रहता है। धीरे-धीरे अपने आसपास के परिवेश केक्रियाकलापों को देख कर वह भी वैसा ही करने लगता है।यही है अनुकरण, कुछ देख कर  वैसा ही करना अर्थातसीखना। हम अपने जीवन में जो भी कार्य करते हैं वह इसी संसार से सीखते हैं।

अनुकरण करते हैं। अनुकरण सकारात्मक होना

परोपकार BENEVOLENCE

परोपकार जीवन नहीं, जीवन के बाद भी जीवंत रहता है। हमारे पुराणों में परोपकार के लिए कई उपदेश लिखे हैं। नदी अपना जल नहीं उपयोग करती। वृक्ष अपना फल नहीं खाता। परोपकार के यह सर्वश्रेष्ठ उदाहरण है।

 मनुष्य अकेला जीवन नहीं जी सकता। मानवता के उद्धार के लिए परोपकार आवश्यक है। इससे स्वयं के साथ-साथ समाज का

स्वच्छता CLEANLINESS

 स्वच्छता का जीवन में सर्वाधिक महत्व है। इसे स्वयं भी अपनाना चाहिए और आस-पास के परिवेश को भी स्वच्छ रखना चाहिए। स्वच्छता से रोग जन्म नहीं लेते। बच्चों को विशेषकर स्वच्छतासिखानी चाहिए। सबसे पहले अपने घर को स्वच्छ और सुंदर बनाएं, फिर अपने घर के आस-पास को। इस प्रक्रिया से अन्य सभी स्थानों पर भी धीरे

Innovative Teaching Techniques अभिनव शिक्षण तकनीक

It has been observed that education can be imbibed in the the students only when their interest towards it generates from within. The need is to go beyond the books, which we usually do not do. Some government school teachers of Jharkhand came out with an innovative idea to improve the situation.

सच्ची लगन EARNESTLY

सच्ची लगन सफलता का मूल मंत्र है। कोई भी कार्य सच्ची लगन के बिना पूर्ण नहीं हो सकते। डॉ. भीमराव अंबेडकर एवं डॉ. ए.पी.जे. कलाम जैसे महापुरुष इसके सशक्त उदाहरण हैं। डॉ. भीमराव ने विपरीत परिस्थितियों में शिक्षा ग्रहण की।अभाव पूर्ण जीवन में शिक्षा आरंभ की किन्तु बाद में उच्च शिक्षा के स्वामी बनें।

भारती

A Children Newspaper By The Children

छात्रों में सृजनात्मक क्षमता को विकसित करने, उनमें अभिव्यक्ति की क्षमता का विस्तार करने, कला, संस्कृति व साहित्य के प्रति अभिरूचि उत्पन्न करने, देश-दुनिया-राज्य-समाज की स्थितियों से साक्षात्कार कराने के लिये 'बाल अखबार' की उपादेयता निश्चित तौर पर अतुलनीय है. इस नवाचार के माध्यम से छात्रों का पठन

सच का महत्व IMPORTANCE OF TRUTH

सच का महत्व शब्दों से नहीं जाना जा सकता, इसे अपने जीवन, व्यवहार में अपनाकर समझा जासकता है। सत्य वह शक्ति है, जो हमें निर्भीक बनाती है। नैतिक-मूल्यों को समझकर, सद्‍भावना और अनुशासन के साथ सत्य को अपनाया जा सकता है।

सत्यता का महत्व और परिणाम तब ही समझ सकते हैं, जब इसे दैनिक जीवन में उपयोग मेंलाएंगे।

Children's Parliament बाल संसद

छात्रों का सर्वांगीण विकास शिक्षा का लक्षय है, जिसके लिये दायित्व बोध उत्पन्न करने के साथ उनमें लोकतंत्र के प्रति निष्ठा भावना का प्रसार करना आवश्यक है. यदि छात्र सामूहिकता के महत्व को समझ जायेंगे, तो जीवन भर उनमें अहं की जगह सामुदायिक सहभागिता की भावना जागृत होगी. कदम से कदम मिलाकर चलना सीखने के

More from Bharat Mahan